Atal Bhujal Yojana In Hindi PDF 2024: अटल जल योजना

5/5 - (2 votes)

Atal Bhujal Yojana | Atal Jal Yojana in Hindi | Groundwater Scheme Of India

भारत एक कृषि प्रधान देश है। इसलिए भारत सरकार कृषि के लिए अलग-अलग महत्वपूर्ण योजना जैसे किसान सम्मान निधि योजना, PocraDBT, PM Tractor Yojana, Kalia Yojana एवं इसी में अटल भूजल योजना एक नई योजना है।

हमने आज के इस लेख में अटल जल योजना की विस्तृत जानकारी, उद्देश्य, लाभ एवं लाभार्थी, योजना का क्रियानवयन कैसे किया जाता है आदि।

यदि आप UPSC जैसे एग्जाम की तैयारी कर रहे है, तो इस योजना की जानकारी लेना आपके लिए उपयोगी होगी। हमने Atal Bhujal Yojana PDF भी तैयार किया है। लेख को अंत तक पढ़ें।

Content Show

Atal Bhujal Yojana क्या है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 95वीं जयंती के अवसर पर सामुदायिक भागीदारी के माध्यम से भूजल प्रबंधन में सुधार लाने के उद्देश्य से एक योजना ‘अटल भुजल योजना’ को हरी झंडी दिखाई।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पांच साल (2020-2021 से 2024-2025) की अवधि में लागू होने वाली 6,000 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय वाली केंद्रीय क्षेत्र की योजना अटल भुजल योजना के कार्यान्वयन के लिए अपनी मंजूरी दे दी।

यह योजना सात राज्यों में सामुदायिक भागीदारी के माध्यम से भूजल प्रबंधन में सुधार लाने के उद्देश्य से शुरू की गई है।

Atal Bhujal Yojana PDF Download

Atal Bhujal Yojana in Hindi PDF
Atal Bhujal Yojana in Hindi PDF

आप अटल भूजल योजना पीडीऍफ़ फ्री यहाँ बटन पर क्लीक कर डाउनलोड कर सकते है। इस पीडीऍफ़ पुस्तिका में आपको योजना सम्बन्धित जानकारी प्राप्त होगी।

इस प्रकार के कंटेंट बनाने का यह हमारा पहला प्रयास है। आप इस पीडीऍफ़ को जरूर डाउनलोड करें एवं इसे अपने दोस्तों को शेयर करें। साथ ही इस प्रकार के अन्य फ्री पीडीऍफ़ के लिए कमेंट करें।

Atal Bhujal Yojana का उद्देश्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी ने मार्च 2018 में “अटल भूजल योजना” का प्रस्ताव रखा था परन्तु मंत्रिमंडल की नामंजूरी से यह लांच न हो सका। इसे डेढ़ वर्ष बाद मंजूरी मिली और यह लांच किया गया।

परन्तु डेढ़ वर्ष बाद 25 दिसंबर 2019 को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के 95th जन्म दिवस पर “अटल भूजल योजना” को प्राम्भ किया गया . इसे अटल जल योजना भी कहते है .

अटल भूजल का प्राथमिक उद्देश्य “चुने गए राज्य के क्षेत्र जहाँ जल-दबाव अधिक है वहां भूजल संसाधनों के प्रबंधन में सुधार करना” है।

इसके अलावा योजना के अन्य उद्देश्य है:

  • इस योजना का उद्देश्य किसानों की आय को दोगुना करना
  • सहभागी भूजल प्रबंधन को बढ़ावा देना
  • बड़े पैमाने पर जल उपयोग दक्षता में सुधार करना
  • फसल पैटर्न में सुधार करना और भूजल संसाधनों के कुशल और न्यायसंगत उपयोग को बढ़ावा देना
  • सामुदायिक स्तर पर व्यवहार परिवर्तन को बढ़ावा देना है।

Highlights Of Atal Jal Yojana

योजना का नाम अटल भूजल योजना
किसने प्रारम्भ किया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
कब प्रारम्भ हुआ 25 दिसंबर 2019
उद्देश्य भूगर्भजल के संसाधनों में सुधार
लाभार्थी ग्रामीण क्षेत्र के महिला एवं छोटे सीमांत किसान
आवेदन कोई आवेदन की आवश्यकता नहीं
आधिकारिक वेबसाइट ataljal.mowr.gov.in

अटल जल योजना में शामिल राज्य

atal jal yojana state list

अटल भूजल योजना के अंतर्गत देश के भूजल-दबाव वाले क्षेत्र को योजना में जोड़ा गया है। ये सात राज्य इस प्रकार है:

  • राजस्थान
  • उत्तर पदेश
  • गुजरात
  • महाराष्ट्र
  • मध्य प्रदेश
  • कर्नाटक
  • हरियाणा

Atal Bhujal Yojana State and District List

Atal Bhujal Yojana के अंतर्गत 7 चुनिंदा राज्य के 78 जिले, 193 ब्लॉक के 8350 ग्रामपंचायत को जोड़ा गया है। ये सभी जल दबाव वाले क्षेत्र है जहाँ ग्राउंड वाटर संसाधनों का सुधार किया जाना है।

#1: राजस्थान राज्य में अटल जल योजना

राजस्थान के कुल 17 जिलों के 38 ब्लॉक एवं 1141 ग्राम पंचायतों को योजना में जोड़ा गया है। आप इस लिस्ट को यहाँ निचे देख सकते है:

जिला ब्लॉक/तालुका ग्राम पंचायत*
अजमेर 3 90
अलवर 1 34
बरन 2 58
भीलवाड़ा 1 39
चित्तौरगढ़ 1 40
दौसा 7 155
धौलपुर 2 74
हनुमानगढ़ 3 97
जयपुर 3 108
जैसलमेर 3 64
झालावाड़ 1 38
झुंझुनू 1 44
करौली 2 60
कोटा 1 36
राजसमंद 1 33
स्वामी माधोपुर 3 92
सीकर 3 79
17 38 1141

#2: महाराष्ट्र राज्य में अटल जल योजना

महाराष्ट्र के कुल 13 जिलों के 38 ब्लॉक एवं 1339 ग्राम पंचायतों को योजना में जोड़ा गया है। आप इस लिस्ट को यहाँ निचे देख सकते है:

जिला ब्लॉक/तालुका ग्राम पंचायत*
पुणे 3 110
सतारा 3 114
सांगली 4 93
सोलापुर 4 115
नासिक 2 117
अहमदनगर 3 101
जळगाव 4 101
जलना 3 50
लातूर 4 121
ओस्मानाबाद 2 55
अमरावती 3 217
बुलढाणा 1 67
नागपुर 2 78
13 38 1339

#3: मध्यप्रदेश राज्य में अटल जल योजना

मध्यप्रदेश के कुल 6 जिलों के 9 ब्लॉक एवं 663 ग्राम पंचायतों को अटल जल योजना में जोड़ा गया है। आप इस लिस्ट को यहाँ निचे देख सकते है:

जिला ब्लॉक/तहसील ग्राम पंचायत
छतरपुर 3 242
दमोह 1 62
निवारि 1 71
पन्ना 1 65
सागर 1 72
टीकमगढ़ 2 151
6 9 663

#4: उत्तरप्रदेश राज्य में अटल जल योजना

उत्तरप्रदेश के कुल 10 जिलों के 26 ब्लॉक एवं 550 ग्राम पंचायतों को अटल जल योजना में जोड़ा गया है। आप इस लिस्ट को यहाँ निचे देख सकते है:

जिला ब्लॉक/तहसील ग्राम पंचायत
महोबा 4 74
झाँसी 2 32
बाँदा 5 94
हमीरपुर 4 57
चित्रकूट 4 76
ललितपुर 1 17
मुज़फ्फरनगर 1 53
शामली 1 14
बाघपत 2 76
मीरुत 2 57
10 26 550

#5: हरियाणा राज्य में अटल जल योजना

हरियाणा के कुल 14 जिलों के 36 ब्लॉक एवं 1658 ग्राम पंचायतों को अटल जल योजना में जोड़ा गया है। आप इस लिस्ट को यहाँ निचे देख सकते है:

जिला ब्लॉक/तहसील ग्राम पंचायत
भिवानी 4 155
चाकरी दादरी 1 49
फरीदाबाद 2 69
फतेहाबाद 1 48
गुरुग्राम 4 162
कैथल 2 82
कुरुक्षेत्र 3 189
करनाल 1 41
महेंद्र गढ़ 5 255
पलवल 4 185
पानीपत 2 55
रेवाड़ी 1 39
सिरसा 2 78
यमुना नगर 4 251
14 36 1658

#6: कर्णाटक राज्य में अटल जल योजना

कर्नाटक के कुल 14 जिलों के 41 ब्लॉक एवं 1199 ग्राम पंचायतों को अटल जल योजना में जोड़ा गया है। आप इस लिस्ट को यहाँ निचे देख सकते है:

जिला ब्लॉक/तहसील ग्राम पंचायत
कोलर 5 154
चिक्कबल्लापुरा 6 157
तुमकुरु 6 199
बेंगलुरु (ग्रामीण) 4 100
रामनगरा 2 50
चिक्कमगलुरु 1 57
चित्रदुर्गा 5 156
देवनागरी 2 43
बल्लारी 2 46
बागलकोट 2 61
गदग 2 52
बेलगावी 2 45
चामराजनगर 1 34
हस्सान 1 45
14 41 1199

#7: गुजरात राज्य में अटल जल योजना

गुजरात के कुल 6 जिलों के 36 ब्लॉक एवं 2001 ग्राम पंचायतों को अटल जल योजना में जोड़ा गया है। आप इस लिस्ट को यहाँ निचे देख सकते है:

जिला ब्लॉक/तहसील ग्राम पंचायत
बनासकांठा 9 558
गांधीनगर 4 258
कच्छ 5 219
महेसाणा 10 493
पाटण 4 215
साबरकांठा 4 258
6 36 2001

अटल जल योजना की मुख्य विशेषताएं

अटल जल योजना की मुख्य विशेषता में दो कॉम्पोनेन्ट शामिल है:

Component 1:

एक घटक राज्यों में स्थायी भूजल प्रबंधन के लिए संस्थागत मजबूती और क्षमता निर्माण है जिसमें निगरानी नेटवर्क में सुधार, क्षमता निर्माण और जल उपयोगकर्ता संघों को मजबूत करना शामिल है।

Component 2:

दूसरा घटक राज्यों को बेहतर भूजल प्रबंधन तरीको जैसे डेटा प्रसार, जल सुरक्षा योजनाओं की तैयारी, चल रही योजनाओं के अभिसरण के माध्यम से प्रबंधन हस्तक्षेपों के कार्यान्वयन, मांग पक्ष प्रबंधन तरीको को अपनाने आदि में उपलब्धियों के लिए प्रोत्साहित करना है।

अटल जल योजना के लाभार्थी Beneficiary Of Atal Jal Yojana

इसका उद्देश्य सात राज्यों – गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में चिन्हित प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में सामुदायिक भागीदारी के माध्यम से भूजल प्रबंधन में सुधार करना है।

यह योजना पंचायत के नेतृत्व वाले भूजल प्रबंधन और मांग-पक्ष प्रबंधन पर प्राथमिक ध्यान देने के साथ व्यवहार परिवर्तन को बढ़ावा देगी।

योजना के लाभार्थी ये सभी होंगे:

  • मुख्यतः ग्रामीण महिलाये, छोटे एवं सीमांत किसान (SMFs) तथा खेत के मजदूर .
  • भूजल प्रबंधन के लिए जिम्मेदार केंद्र और राज्य सरकार की एजेंसियां (CGWB)
  • वे गरीब परिवार जो सूखे व बाढ़ से ग्रस्त हो जाते है .
  • पर्यावरण एवं कृषि मंत्रालय, अनुसंधान एवं शैक्षणिक संसथान साथ ही छात्र एवं रिसर्चर

अटल जल योजना के लिए फंड (Fund under the Atal Jal Yojana)

atal bhujal yojana fund

योजना के क्रियान्वयन के लिए फण्ड सुविधा:

  • 6,000 करोड़ रुपये का कुल परिव्यय।
  • 50% विश्व बैंक ऋण के रूप में होगा और केंद्र सरकार द्वारा चुकाया जाएगा।
  • शेष 50% नियमित बजटीय सहायता से केंद्रीय सहायता के माध्यम से होगा।
  • संपूर्ण विश्व बैंक के ऋण घटक और केंद्रीय सहायता को अनुदान के रूप में राज्यों को दिया जाएगा।

यह योजना पांच वर्ष के लिए तैयार की गयी है . योजना का क्रियान्वयन 2025 तक चलेग।

अटल जल योजना का क्रियान्वयन प्रक्रिया

अटल जल योजना का क्रियान्वयन प्रक्रिया चार स्तर पर किया जा रहा है:

  • सेंट्रल लेवल
  • स्टेट लेवल
  • डिस्ट्रिक्ट (जिला) लेवल
  • ग्राम पंचायत लेवल

इस कार्य में ग्रामपंचायत का सबसे महत्वपूर्ण रोल रहता है।

केंद्र द्वारा MoWR, RD&GR के अंतर्गत CGWB द्वारा स्टेट एवं डिस्ट्रिक्ट लेवल के कार्य पर संचालन किया जाएगा।

राज्य एवं डिस्ट्रिक लेवल पर इसके इम्प्लीमेंट करने के लिए एजेंसी का संचालन होगा।

अटल जल योजना का केंद्र स्तर पर क्रियान्वयन

केंद्रीय स्तर पर, MoWR, RD&GR के तहत CGWB द्वारा संस्थागत सुदृढ़ीकरण और क्षमता निर्माण के साथ-साथ प्रोत्साहन घटकों दोनों के संबंध में राष्ट्रीय और राज्य / जिला दोनों स्तरों पर ‘अटल भुजल योजना’ परियोजना का संचालन करेगा।

atal bhujal yojana implement at central level
  • प्रौद्योगिकियों का विकास और प्रसार करना।
  • भूजल संसाधनों के वैज्ञानिक और सतत विकास की निगरानी और कार्यान्वयन करना है।
  • खोज, मूल्यांकन, संरक्षण, वृद्धि और प्रदूषण और वितरण से सुरक्षा आदि।

अटल जल योजना का राज्य स्तर पर क्रियान्वयन

राज्य स्तर पर विभिन्न विभाग एवं संस्थाए योजना का क्रियान्वयन किया जाता है:

राज्य स्तर पर State Program Implementation Agency (SPIA) and Technical Support Agency/Nodal agencies कार्य करती है।

  • जल संसाधन विभाग
  • कृषि विभाग
  • सार्वजनिक स्वास्थ्य और इंजीनियरिंग विभाग
  • पंचायती राज विभाग

इनका कार्य भूजल संसाधन एवं निगरानी करना, प्लानिंग का रिव्यु एवं मंजूरी करना, वार्षिक प्लानिंग को इम्प्लीमेंट करना, “जल जीवन मिशन” जैसी समान योजना के धन को सुनिचित करना आदि।

संबंधित राज्यों की भूजल एजेंसियां इस प्रकार हैं:

atal bhujal yojana agency list
  • Gujarat Water Resources Development Corporation Limited under the Department of Water Resources
  • Maharashtra Ground Water Surveys and Development Agency
  • Madhya Pradesh Ground Water Division under the State Water Resources Department
  • Haryana Ground Water Cell under the Department of Agriculture
  • Uttar Pradesh Ground Water Cell under the Department of Agriculture
  • Rajasthan Ground Water Directorate under the Public Health Engineering Department

अटल जल योजना का जिला स्तर पर क्रियान्वयन

अटल भूजल योजना के तहत गतिविधियों को लागू करने में राज्य और ग्राम पंचायतों (GPs) को समर्थन देने के लिए चिन्हित प्रत्येक कार्यक्रम जिले में District Program Management Unit (DPMU) की स्थापना की जाएगी।

DPMU के अंतर्गत ये सभी सदस्य होंगे:

  • 1 जिला कलेक्टर/सीईओ
  • जिला परिषद शामिल हैं
  • 3 तकनीकी अधिकारी
  • एक जलविज्ञानी/जल संसाधन विशेषज्ञ
  • एक कृषि विशेषज्ञ
  • एक नोडल अधिकारी
  • 1 आईईसी/संचार विशेषज्ञ
  • और 2/3 डाटा एंट्री ऑपरेटर

पंचायती राज संस्थाओं के पास यह तय करने की महत्वपूर्ण शक्तियाँ भी हैं कि विभिन्न उपयोगों के लिए धन कैसे आवंटित किया जाएगा और कुछ मामलों में कार्यक्रम कार्यान्वयन की निगरानी के अलावा, जमीनी निवेश के कार्यान्वयन के लिए जिम्मेदार हैं।

अटल जल योजना का ग्राम स्तर पर क्रियान्वयन

अटल भुजल योजना के कार्यान्वयन में ग्राम पंचायतों की महत्वपूर्ण भूमिका है, जो प्रशासन का अंतिम स्तर है और समुदाय और प्रशासन के बीच महत्वपूर्ण कड़ी है।

प्रत्येक ग्राम पंचायत जल प्रबंधन समितियों/ग्राम जल और स्वच्छता समिति (WMC/VWSC) को मजबूत करेगी, जो पहले से ही महिलाओं सहित अतिरिक्त सहयोजित सदस्यों के साथ मौजूद हैं।

WUAs के कार्यों में शामिल होंगे:

  • WUA भूजल प्रबंधन के महत्व और अपने-अपने क्षेत्रों में भागीदारी भूजल प्रबंधन प्रक्रियाओं को बढ़ावा देने की आवश्यकता पर नियमित बैठकों और कार्यशालाओं के माध्यम से स्थानीय नेताओं के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए गतिविधियां भी चलाएगा।

FAQs

अटल भूजल योजना का पहली बार प्रस्ताव कब रखा गया?

अटल भूजल योजना का पहली बार प्रस्ताव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मार्च 2018 में रखा गया था। परन्तु मंत्रिमंडल की सहमति न मिलने के कारन योजना लांच न हो सकी। डेढ़ वर्ष बाद इस योजना को प्रारम्भ किया गया।

Atal Bhujal Yojana का कार्यकाल कितने वर्ष का है?

Atal Bhujal Yojana का कार्यकल पांच वर्ष का है। यह योजना वर्ष 2019 में प्रारम्भ हुई थी। योजना को 2025 तक क्रियान्वनित किया जाएगा।

अटल भूजल योजना में कौन-कौन से राज्य शामिल है?

अटल भूजल योजना में 7 चुनिंदाभूजल-दबाव वाले क्षेत्रो को चुना गया है। ये सभी राज्य निम्नलिखित है:
>राजस्थान
>मध्यप्रदेश
>उत्तरप्रदेश
>गुजरात
>महाराष्ट्र
>कर्नाटक
>हरियाणा

Share this:

Leave a Comment

Close Visit Havaman Andaj